बरेली: 115 महाविद्यालयों ने नहीं कराईं 352 विषयों की प्रयोगात्मक परीक्षाएं, विश्वविद्यालय ने दिए ये सख्त निर्देश

मुरादाबाद के हिंदू कॉलेज ने 23 बैच की नहीं कराई परीक्षा, कुलपति ने जताई नाराजगी

Advertisement

बरेली, अमृत विचार। महाविद्यालयों की लापरवाही से छात्रों का भविष्य खतरे में पड़ सकता है। उनका परिणाम रुक सकता है और उन्हें आगे प्रवेश मिलने में दिक्कत हो सकती है। एमजेपी रुहेलखंड विश्वविद्यालय से संबद्ध 115 महाविद्यालयों ने बीए, बीएससी व बीकॉम के 352 विषयों की प्रयोगात्मक परीक्षाएं निर्धारित तिथि 20 सितंबर तक नहीं कराई हैं और न ही अंक अपलोड किए हैं।

Advertisement

परीक्षा नियंत्रक ने ऐसे महाविद्यालयों के प्राचार्यों को सख्त निर्देश दिए हैं कि वह 23 सितंबर तक प्रयोगात्मक परीक्षाओं के अंक अवश्य अपलोड कर दें। जिन महाविद्यालयों ने परीक्षाएं नहीं कराई हैं, उनकी सूची भी जारी की है। परीक्षा नियंत्रक ने निर्देश दिए हैं कि अब अंक अपलोड न करने पर परिणाम जारी नहीं किया जाएगा। मुरादाबाद के हिंदू कॉलेज ने 28 बैच की प्रयोगात्मक परीक्षाएं नहीं कराई हैं, इसपर कुलपति ने आपत्ति जारी की है। कुलसचिव ने प्राचार्य को निर्धारित तिथि में परीक्षाएं कराने का पत्र जारी किया है।

Advertisement

विश्वविद्यालय को स्नातक व व्यावसायिक पाठ्यक्रमों का परिणाम जल्द से जल्द जारी करना है, क्योंकि 30 सितंबर से बीएड की काउंसिलिंग शुरू हो रही है। प्रयोगात्मक परीक्षाओं के अंक न होने से परिणाम जारी करने में देरी हो रही है। विश्वविद्यालय ने 1 सितंबर से प्रयोगात्मक परीक्षाएं कराने के निर्देश जारी किए थे। शुरू में शिक्षकों के विरोध की वजह से देरी हुई। उसके बाद समस्याओं के समाधान के बाद भी निर्धारित समय में परीक्षाएं नहीं हुईं। विश्वविद्यालय द्वारा दो बार तिथि भी विस्तारित की गई लेकिन महाविद्यालयों ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। जिन महाविद्यालयों ने प्रयोगात्मक परीक्षाएं नहीं कराई हैं, उसमें बरेली के 25 से अधिक महाविद्यालय हैं। इसके अलावा बदायूं, पीलीभीत, रामपुर, अमरोहा, बिजनौर, संभल व शाहजहांपुर व मुरादाबाद के महाविद्यालय हैं।

ये भी पढ़ें- बरेली: IMC की तरफ से उर्स में लगा मुफ्त स्वास्थ्य शिविर, मौलाना तौकीर रजा ने किया आगाज

Advertisement
Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.