बरेली: ई-राशनकार्ड बनाने का काम देने के नाम पर 10 लाख की धोखाधड़ी

बरेली, अमृत विचार। बरेली में ई-राशन कार्ड बनाने का काम देने के नाम पर 10 लाख रुपये की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। इस प्रकरण में दो कंपनियां बनाकर ठगी की गयी। उत्तराखंड के जनपद चंपावत के टनकपुर क्षेत्र के कमल सिंह पाटनी ने कुछ माह पहले जिला पूर्ति अधिकारी नीरज सिंह और शासन में शिकायत की। इसके बाद जिला पूर्ति अधिकारी ने जांच करायी तो पूरा मामला सामने आ गया।

Advertisement

जांच में मालूम हुआ कि युवा शक्ति कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड और युवा शक्ति वेबटेक प्राइवेट लिमिटेड कंपनियों के निदेशक द्वारा बरेली में ई-राशनकार्ड बनाने का काम देने के नाम पर धोखाधड़ी की गयी। इसमें सबसे बड़ी बात यह थी कि दोनों फर्म न तो जनपद बरेली में खाद्य एवं रसद विभाग में पंजीकृत हैं और न ही विभाग ने उपरोक्त संबंध में कोई निविदा आदि मांगी है। जिला पूर्ति अधिकारी ने यह बात शिकायतकर्ता कमल सिंह को भी फोन पर बतायी।

शिकायत निस्तारण कराने के संबंध में जिला पूर्ति अधिकारी ने अपर जिलाधिकारी प्रशासन वीके सिंह को पत्र लिखकर बताया कि पूरा मामला धोखाधड़ी का है। आपूर्ति कार्यालय से संबंधित नहीं है। जिसके लिए शिकायतकर्ता को संबंधित व्यक्तियों के विरुद्ध एफआईआर पंजीकृत कराना चाहिए।

शिकायतकर्ता को यह भी बताया है कि प्रकरण में इस कार्यालय स्तर से कोई कार्यवाही अपेक्षित नहीं है। शिकायतकर्ता ने उपरोक्त पूरी स्थिति से अवगत होते हुए अपने स्तर से विधिक कार्रवाई करने पर सहमति भी व्यक्त की है। मामले की एक-एक कॉपी अपर आयुक्त खाद्य एवं जिलाधिकारी को भी भेजी गयी है।

Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *