छजलैट प्रकरण : आजम खां के बीमार होने के चलते बयान नहीं हुए दर्ज, अब 18 को होगी सुनवाई

Advertisement

मुरादाबाद,अमृत विचार। छजलैट प्रकरण में मुख्य आरोपी समाजवादी पार्टी के नेता एवं विधायक मोहम्मद आजम खान की तबीयत खराब हो जाने के कारण शुक्रवार को वह अदालत में उपस्थित नहीं हो सके। आजम खां और अब्दुल्ला आजम की गैरहाजिरी के कारण अदालत में सुनवाई नहीं हो सकी। न्यायाधीशने अब आरोपियों के बयान दर्ज करने की तिथि 18 अगस्त निर्धारित की है।

Advertisement

बसपा शासनकाल में पुलिस के विरुद्ध दिया था धरना
गौरतलब है कि वर्ष 2018 में बसपा शासनकाल के दौरान छजलैट थाना क्षेत्र में तत्कालीन थानाध्यक्ष आसिफ अली खान द्वारा आजम खान के काले शीशे चढ़े वाहन को रोके जाने के बाद आजम खां ने विरोध किया था। आजम खां ने पुलिस पर पक्षपात एवं बदले की भावना से कार्य किए जाने का आरोप लगाते हुए धरना दिया था जिसमें स्थानीय नेता भी शामिल हुए थे। पुलिस द्वारा आजम खान उनके विधायक पुत्र अब्दुल्लाह आजम, महबूब अली, मनोज पारस, नईम उल हसन, हाजी इकराम कुरैशी, डीपी यादव, राजकुमार प्रजापति, राजेश यादव के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न करने, जाम लगाकर यातायात बाधित करने आदि धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की थी।

Advertisement

धारा 313 के तहत होने है आरोपियों के बयान
एमपी-एमएलए स्पेशल कोर्ट एसीजेएम चार में विचाराधीन मामले में आज आरोपियों के 313 के अंतर्गत बयान दर्ज होने थे। आजम खां लखनऊ के मेदांता अस्पताल में भर्ती है और अब्दुल्ला आजम उनकी तीमारदारी में लगे हुए हैं। आजम खां के अधिवक्ता वीरेंद्र शर्मा द्वारा अदालत को लिखित रूप में आवगत कराते हुए इस प्रकरण में अगली तारीख दिए जाने का अनुरोध किया गया। अदालत द्वारा इस मुकदमे मैं आरोपियों के बयान दर्ज करने के लिए अग्रिम तिथि 18 अगस्त निर्धारित की गई है। शुक्रवार को महबूब अली, मनोज पारस, नईमुल हसन, हाजी इकराम कुरैशी, डीपी यादव आदि हाजिर हुए थे।

ये भी पढ़ें : आजम खां की फिर बिगड़ी तबीयत, सांस लेने में तकलीफ के बाद अस्‍पताल में कराया गया भर्ती

Advertisement
Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.