इंदिरा एकादशी 2022: आज शाम तक इन 5 में से करें कोई एक उपाय, आर्थिक तंगी से मुक्ति मिलने की है मान्यता

Advertisement

नई दिल्ली। पितृ पक्ष 25 सितंबर तक रहेंगे। सर्वपितृ अमावस्या के साथ ही पितृ पक्ष का समापन हो जाएगा। इस बीच 21 सितंबर यानी आज श्राद्ध एकादशी या इंदिरा एकादशी व्रत है। मान्यता है कि इंदिरा एकादशी व्रत करने से पितरों की आत्मा को शांति मिलती है। घर में सुख-समृद्धि का वास होता है। शास्त्रों में एकादशी के दिन कुछ उपाय बताए गए हैं, जिन्हें करने से धन लाभ के साथ जीवन में खुशहाली आने की मान्यता है।

Advertisement

शालीग्राम की पूजा
मान्यता है कि इंदिरा एकादशी के दिन शालीग्राम की पूजा करनी चाहिए। शालीग्राम को पीले फल, पीले पुष्प व हल्दी अर्पित करने से पितृदोष से मुक्ति मिलती है।

Advertisement

तुलसी के पास घी का दीपक
स्नान के बाद इंदिरा एकादशी के दिन तुलसी के पास घी का दीपक जलाएं। इस दौरान ऊँ वासुदेवाय नमः मंत्र का जाप करें। मान्यता है कि ऐसा करने से जीवन में तरक्की के योग बनते हैं।

पीली चीजों को करें अर्पित
शास्त्रों के अनुसार, जीवन में आर्थिक उन्नति लाने के लिए भगवान विष्णु को पीले फल, पीले पुष्प व पीली मिठाई अर्पित करनी चाहिए।

पीपल के समक्ष दीपक
ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, एकादशी के दिन पीपल के पड़ के समक्ष सरसों के तेल का दीपक जलाना चाहिए और पितरों की आत्मा की शांति की कामना करें। मान्यता है कि ऐसा करने से परेशानियों से मुक्ति मिलती है।

विष्णु सहस्त्रनाम पाठ
एकादशी के दिन विष्णु सहस्त्रनाम पाठ का करना बेहद लाभकारी माना गया है। मान्यता है कि ऐसा करने से भगवान विष्णु का आशीर्वाद प्राप्त होता है।

ये भी पढ़ें : नैनीताल: पहाड़ी अंचलों में तिमल के पत्तों को श्राद्ध में क्यों माना जाता है महत्वपूर्ण…

Advertisement
Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.