हल्द्वानी: फांसी का फंदा बना झूला, पांच साल के मासूम की मौत

हल्द्वानी, अमृत विचार। छोटे भाई साथ झूला झूल रहे एक मासूम के लिए झूला ही फांसी का फंदा बन गया। बेटे को झूले से लटका देख मां की चीख निकल पड़ी। चीख सुन दौड़े पड़ोसी आनन-फानन में मासूम को सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय ले गए। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। हालांकि बाद में पोस्टमार्टम टाल दिया गया।

Advertisement

इंद्रानगर नूरी मस्जिद के पास आबिद रजा के के मकान में किराए पर रहने वाले मोहम्मद फईम पुताई का काम करते हैं। घर में पत्नी जीनत, बेटा मोहम्मद अरमान (5), फैजान (3) व रेहान डेढ़ साल है। अरमान इंद्रानगर छोटी रोड स्थित प्राइमरी विद्यालय में कक्षा दो का छात्र था।

अरमान की मां ने बताया कि सुबह करीब पौने 11 बजे अरमान और छोटा बेटा फैजान छत पर लगे झूले से झूल रहे थे और वह कुछ देर के लिए उन्हें छोड़ कर घर के पास स्थित दुकान से कुछ सामान लेने गई थी। सामान लेकर घर पहुंची तो देखा फैजान नीचे आ चुका था, लेकिन अरमान दिखाई नहीं दे रहा था। पूछने पर फैजान ने बताया कि भाई ऊपर है। कई आवाज देने पर भी जब अरमान की आवाज नहीं आई तो मां जीनत छत पर पहुंची। छत का नजारा देख कर जीनत के मुंह से चीख निकल पड़ी और वह दहाड़े मार कर रोने लगी।

जीनत की आवाज सुनकर आनन-फानन में पड़ोसी मौके पर जा पहुंचे। अरमान की गर्दन झूले में फंसी हुई थी और शव लटक रहा था। आनन-फानन में लोगों ने अरमान को झूले से निकाला और सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय लेकर पहुंचे। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। चिकित्सकों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *