बैतूल में दिखी अनोखी शादी, बुलडोजर पर निकली इंजीनियर दूल्हे की बारात, जानिए इस फैसले का राज़

Advertisement

बैतूल। पिछले कुछ दिनों से देश में बुलडोजर का भौकाल डाइट है। हर तरफ बुल्डोजर की गरज सुनाई दे रही है।  बुलडोजर शब्द सुनते ही लोगों के जहन में बदमाशों और माफियाओं के अवैध निर्माण नेस्तनाबूद होती तस्वीरें उभरती हैं। लेकिन, बुलडोजर का एक अनूठा इस्तेमाल भी हो सकता है, यह बैतूल के एक दूल्हे ने सबको बता दिया। इस दूल्हे ने बैलगाड़ी, घोड़ी या बग्घी की जगह बुलडोजर पर बारात निकाली। इसे देखकर लोग भी दंग रह गए। पेशे से इंजीनियर दूल्हे ने इसका पूरा आनंद उठाया। अब सोशल मीडिया पर यह वीडियो जमकर वायरल हो रहा है।

Advertisement

बुलडोजर वाली बारात

Advertisement

बुलडोजर वाले इस नाचते-गाते दूल्हे की तस्वीर सामने आई है मध्य प्रदेश के बैतूल जिले के केरपानी गांव से। यहां पेशे से इंजीनियर अंकुश जैसवाल की शादी थी। वर निकासी के समय अंकुश के घर के सामने बुलडोज़र देख पहले तो लोग काफी घबरा गए। वे सोच ही रहे थे कि आखिर शादी वाले घर मे बुलडोज़र का क्या काम लेकिन, कुछ ही देर में हुई वर निकासी के समय सारे किंतु-लेकिन का जवाब मिल गया। दूल्हा अंकुश खुद सजे-धजे बुलडोज़र में बैठकर बारात लेकर निकला।

बारात के लिए बुलडोज़र को भी अच्छी तरह से सजाया गया था। बुलडोज़र पर अंकुश के साथ उनकी बहनें और भांजे-भांजियाँ भी बैठे नजर आए.अंकुश ने बुलडोज़र पर बैठकर डांस भी किया और जमकर मस्ती करते दिखे। बैतूल के केरपानी गांव के निवासी पेशे से इंजीनियर हैं। अंकुश ने तोड़फोड़ के लिए विख्यात बुलडोज़र को पहली बार इतना सम्मान दिलाया है।

क्यों निकाली बुलडोजर पर बारात

दूल्हे अंकुश ने मीडिया को बताया कि वह सिविल इंजीनियर है। काम की वजह से रोजाना जेसीबी का उसे काम पड़ता है। इसलिए उसने जेसीबी से अपनी बारात निकालने का निर्णय लिया। ये काफी यूनीक और इंटरेस्टिंग भी था। इससे उनका काम के प्रति प्यार भी दिखेगा।

यह भी पढ़ें-दिल्ली में 53 मंदिरों को तोड़ने के लिए केंद्र ने लिखी चिट्ठी, आप नेता बोले- बीजेपी का असली चेहरा आया सामने

Advertisement
Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.