प्रयागराज: फाफामऊ घाट पर गंगा किनारे बड़ी संख्या में दफनाए जा रहे हैं शव, स्थिति हुई बेहद चिंताजनक

Advertisement

प्रयागराज। संगम नगरी के फाफामऊ घाट में एक बार फिर गंगा नदी के किनारे रेत में बड़ी तादाद में शवों को दफनाया जा रहा है। गंगा के घाटों पर शवों को दफनाने पर एनजीटी और जिला प्रशासन ने पाबंदी लगाई हुई है, लेकिन इसके बावजूद परंपरा के नाम पर जिस तरह शवों को दफनाया जा रहा है वह बेहद चिंताजनक है।

Advertisement

फाफामऊ घाट पर जिस तरह के हालात नजर आ रहे हैं, बेहद चिंताजनक हैं। यहां न केवल प्रशासन के निर्देशों का मजाक बनाय जा रहा बल्कि एनजीटी के निर्देशों का भी खुला उल्लंघन हो रहा है। यहां पर शवों को दफनाने पर लगी रोक के बावजूद धड़ल्ले से शवों को दफनाए जाने का खेल जारी है।

Advertisement

दरअसल मानसून आने में अब एक माह से भी कम वक्त बचा हुआ है। ऐसे में गंगा नदी के तट पर जो शव दफन किए जा रहे हैं, नदी का जलस्तर बढ़ने पर उनके गंगा में समाने का भी खतरा बना हुआ है। इससे न केवल रेत में दबे शव गंगा में प्रवाहित होंगी, बल्कि इससे नदी भी प्रदूषित होगी।

पढ़ें- रायबरेली: महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद गला दबाकर की गई हत्या,  गंगा घाट के किनारे मिला शव

Advertisement
Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.