महाराष्ट्र में राजनीतिक संकट: जम्मू में शिवसेना कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन

Advertisement

जम्मू। शिवसेना कार्यकर्ताओं के एक समूह ने महाराष्ट्र में मौजूदा राजनीतिक संकट को लेकर जम्मू में रविवार को प्रदर्शन किया और भाजपा पर उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार को गिराने के वास्ते “खरीद-फरोख्त” में भूमिका होने का आरोप लगाते हुए उच्च स्तरीय जांच की मांग की। शिवसैनिकों ने जम्मू के बाहरी इलाके चन्नी में पार्टी मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन किया और शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे का पुतला भी फूंका, जो पार्टी के अन्य विधायकों और निर्दलीय विधायकों के साथ भाजपा शासित असम के एक होटल में ठहरे हैं।

Advertisement

जम्मू कश्मीर शिवसेना के प्रमुख मनीष साहनी ने पत्रकारों से कहा, “ हम ठाकरे परिवार के बिना शिवसेना की कल्पना नहीं कर सकते हैं और जिन्होंने नेतृत्व के खिलाफ विद्रोह किया है, वे गद्दार हैं जो एक राष्ट्रीय पार्टी के इशारे पर काम कर रहे हैं जो महाराष्ट्र में सत्ता में आने के लिए बेताब है।” प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे साहनी ने दावा किया कि गुवाहाटी में शिवसेना के अधिकांश विधायकों को बंधक बनाकर रखा जा रहा है।

Advertisement

उन्होंने कहा, “जब वे महाराष्ट्र की धरती पर लौटेंगे तो लोगों को असलियत पता चलेगी…प्रभाव, धनबल, ब्लैकमेलिंग और एजेंसियों के दुरुपयोग ने एमवीए सरकार को अस्थिर करने की कोशिश में बड़ी भूमिका निभाई है।” महाराष्ट्र में राजनीतिक संकट के पीछे भाजपा की कथित भूमिका की उच्च स्तरीय जांच की मांग करते हुए उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि असम में भाजपा सरकार बाढ़ प्रभावित लोगों तक पहुंचने के बजाय ‘गद्दारों की मेजबानी’ कर रही है।

यह भी पढ़ें- पूरा देश हिंदुत्व की चपेट में नहीं : सलमान खुर्शीद

Advertisement
Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.