पीलीभीत: कोरोना सैंपलों में हुई लापरवाही की नहीं शुरू हो सकी जांच

पूरनपुर सीएचसी में 22 जुलाई से डंप किए जा रहे थे सैंपल

Advertisement

पीलीभीत, अमृत विचार। मरीजों का सैंपल लेने के 12 दिन बाद भी जांच के लिए लैब न भेजने की लापरवाही को भी जिम्मेदारों ने हवा में उड़ा दिया। मामला खुलने के बाद भी अभी तक इसमें कोई कार्रवाई न हो सकी और न जांच शुरू हुई है। हालांकि लापरवाही की पोल खुलने के बाद जांच के बाद सैंपलों को शाम तक मुख्यालय भेजना शुरू कर दिया गया है। पूरनपुर सीएचसी में आने वाले मरीजों का कोरोना सैंपल लिया जा रहा है। इसके लिए टीम को भी लगाया गया है जो सैंपल लेकर सूची के साथ अस्पताल में देते हैं।

Advertisement

इसके बाद संबंधित कर्मी जांच के बाद नियमानुसार लाइन लिस्ट बनाकर बीएसएल लैब को भेजा जाना था। यहां पर सैंपलों को डंप कर दिया गया और जांच के लिए ही नहीं भेजा गया था। 22 जुलाई के बाद सभी सैंपलों को कार्टून में ही रख दिया गया। लापरवाही की पोल खुलने के बाद जब सीडीओ ने सीएमओ से जानकारी ली तो दूसरे दिन ही सैंपलों को लैब भेज दिया गया।

Advertisement

सीएमओ ने जांच कराने की बात तो कही लेकिन अभी तक इसमें न तो जांच ही शुरू हो सकी और न कार्रवाई हो सकी है। जांच न होने से आशंका है कि इस गंभीर मामले को भी दबाने का प्रयास किया जा रहा है। इधर, मामला खुलने के बाद सैंपल देने वालों की बेचैनी भी बढ़ी हुई है।

ये भी पढ़ें – पीलीभीत: पुलिस ने दर्ज की रिपोर्ट, ग्रामीण बोले- लिख दी फर्जी FIR

Advertisement
Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.