इस तारीख से शुरू होंगे डीयू में ऑड सेमेस्टर के एग्जाम्स, 12 अक्टूबर तक भर सकते हैं फॉर्म

Advertisement

जो छात्र-छात्राएं दिल्ली यूनिवर्सिटी में पढाई करते हैं तो ये उनके लिए काम की खबर हो सकती है। दरअसल दिल्ली यूनिवर्सिटी के ऑड सेमेस्टर यानी सेमेस्टर वन, थ्री, फाइफ, सेवेन और नाइन की परीक्षाएं नवंबर/दिसंबर महीने में आयोजित की जाएंगी। बता दें विश्वविद्यालय के एग्जामिनेशन विभाग ने सभी अंडरग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम के कैंडिडेट्स को 12 अक्टूबर तक फॉर्म भरने के लिए कहा है। ये भी बता दें नवंबर महीने में शुरू होने वाले एग्जाम में रेग्यूलर के साथ-साथ नॉन कॉलेजिएट वुमेन एजुकेशन बोर्ड के स्टूडेंट्स भी बैठेंगे। वहीं स्कूल ऑफ ओपेन लर्निंग के यूजी और पीजी प्रोग्राम के लिए अलग से नोटिस जारी किया जाएगा।

Advertisement

ऐसे करें अप्लाई
बता दें आवेदन करने के लिए कैंडिडेट्स को slc.uod.ac.in वेबसाइट पर जाकर अप्लाई करना होगा। एकेडमिक सेशन 2022-23 के यूजी और पीजी सेमेस्टर के एग्जाम के अलावा असेंशियल रिपीटर्स (ईआर), इम्प्रूवमेंट और पूर्व स्टूडेंट्स के भी एग्जाम होंगे। इसके लिए उन्हें लॉगिन करके अगले ऑड सेमेस्टर के लिए कोर्स/पेपर चुनना होगा और फॉर्म जमा करना होगा।

Advertisement

फीस का रिफंड ले सकते हैं
यूनिवर्सिटी ने ये भी साफ किया है कि अगर वे फैकल्टी/विभाग/कॉलेज को फीस दे चुके हैं तो वे इसका रिफंड ले सकते हैं. एग्जामिनेशन डिपार्टमेंट ने स्टूडेंट्स को ये भी सलाह दी है कि वे फॉर्म की कॉपी अपने पास रखें. अगर फॉर्म में कोई गलती हुई है तो संबंधित फैकल्टी या विभाग से इस बारे में संपर्क कर सकते हैं.

स्टूडेंट्स ने उठायी ये मांग –
इस बीच स्टूडेंट्स ने डीयू से ये मांग उठायी है कि यूनिवर्सिटी में एडमिशन सीयूईटी के नॉर्मलाइज्ड स्कोर के आधार पर न होकर पर्रेंसटाइल के आधार पर करें. वे इसके विरोध में पिटीशन भी साइन कर रहे हैं. ये स्टूडेंट्स साइंस स्ट्रीम के हैं और इनका कहना है कि नॉर्मलाइज्ड स्कोर से उनके लिए स्ट्रीम बदलना बहुत मुश्किल हो जाएगा. उनका कहना है कि पर्सेंटाइल स्कोर ज्यादा होने के बावजूद ह्यूमैनिटीज स्टूडेंट्स के मुकाबले उनका नॉर्मलाइज्ड स्कोर काफी कम है. ऐसे में उन्हें सीट मिलना मुश्किल है.

दिल्ली यूनिवर्सिटी (Delhi University) के ऑड सेमेस्टर यानी सेमेस्टर वन, थ्री, फाइफ, सेवेन और नाइन की परीक्षाएं (DU Odd Semester Exams 2022) नवंबर/दिसंबर महीने में आयोजित की जाएंगी. विश्वविद्यालय के एग्जामिनेशन विभाग (DU Examination Department) ने सभी अंडरग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम के कैंडिडेट्स को 12 अक्टूबर तक फॉर्म भरने के लिए कहा है. ये भी जान लें कि नवंबर महीने में शुरू होने वाले एग्जाम में रेग्यूलर के साथ-साथ नॉन कॉलेजिएट वुमेन एजुकेशन बोर्ड के स्टूडेंट्स भी बैठेंगे. वहीं स्कूल ऑफ ओपेन लर्निंग के यूजी और पीजी प्रोग्राम के लिए अलग से नोटिस जारी किया जाएगा.

इस वेबसाइट से करें अप्लाई –
आवेदन करने के लिए कैंडिडेट्स को इस वेबसाइट पर जाकर अप्लाई करना होगा – slc.uod.ac.in एकेडमिक सेशन 2022-23 के यूजी और पीजी सेमेस्टर के एग्जाम के अलावा असेंशियल रिपीटर्स (ईआर), इम्प्रूवमेंट और पूर्व स्टूडेंट्स के भी एग्जाम होंगे. इसके लिए उन्हें लॉगिन करके अगले ऑड सेमेस्टर के लिए कोर्स/पेपर चुनना होगा और फॉर्म जमा करना होगा.

बता दें यूनिवर्सिटी ने ये भी साफ किया है कि अगर वे फैकल्टी/विभाग/कॉलेज को फीस दे चुके हैं तो वे इसका रिफंड ले सकते हैं। एग्जामिनेशन डिपार्टमेंट ने स्टूडेंट्स को ये भी सलाह दी है कि वे फॉर्म की कॉपी अपने पास रखें। वहीं अगर फॉर्म में कोई गलती हुई है तो संबंधित फैकल्टी या विभाग से इस बारे में संपर्क कर सकते हैं।

वहीं इस बीच स्टूडेंट्स ने डीयू से ये मांग उठायी है कि यूनिवर्सिटी में एडमिशन सीयूईटी के नॉर्मलाइज्ड स्कोर के आधार पर न होकर पर्रेंसटाइल के आधार पर करें। वे इसके विरोध में पिटीशन भी साइन कर रहे हैं। ये स्टूडेंट्स साइंस स्ट्रीम के हैं और इनका कहना है कि नॉर्मलाइज्ड स्कोर से उनके लिए स्ट्रीम बदलना बहुत मुश्किल हो जाएगा। उनका कहना है कि पर्सेंटाइल स्कोर ज्यादा होने के बावजूद ह्यूमैनिटीज स्टूडेंट्स के मुकाबले उनका नॉर्मलाइज्ड स्कोर काफी कम है। ऐसे में उन्हें सीट मिलना मुश्किल है।

ये भी पढ़ें- बीएचयू यूजी कोर्सेस में एडमिशन प्रक्रिया हुई शुरू, तीन अक्टूबर तक इस लिंक पर जाकर करें रजिस्ट्रेशन

 

 

 

Advertisement
Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.