मुरादाबाद: नगर निगम का दिखा सौतेला व्यवहार, अमीरों पर मेहरबान

अतिक्रमण हटाओ अभियान: कांठ रोड पर तोड़े 26 अवैध कब्जे, वसूला आठ हजार रुपये जुर्माना

Advertisement

मुरादाबाद, अमृत विचार। शहर में अतिक्रमण के खिलाफ चल रहे नगर निगम के अभियान में सोमवार को दो तस्वीरें सामने आईं हैं। एक तरफ रेहड़ी, पटरी व गरीबों खोखे के खिलाफ नगर निगम का बुलडोजर जमकर गरजा, वहीं ऊंची इमारतों, शोरूम और निजी अस्पताल द्वारा हो रहे अतिक्रमण को अनदेखा कर दिया गया। जबकि मुख्यमंत्री ने सड़कों पर अतिक्रमण करने वाले सभी कब्जादारों पर कार्रवाई के आदेश दिए हैं, लेकिन शहर में निगम की टीम ने सिर्फ गरीबों पर ही रौब दिखाया।

Advertisement
  • इमारतों, शोरूम और निजी अस्पतालों पर कार्रवाई नहीं
  • -ठेले वाले को हटाने पर विरोध का करना पड़ा सामना

अकबर के किले से विवेकानंद अस्पताल तक चला अभियान
दरअसल, पांच दिन पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिलों के अधिकारियों को आदेश दिए थे कि बाजारों, सड़कों, हाईवे व मुख्य चौराहों पर कहीं भी अतिक्रमण नहीं होने दिए जाए। अतिक्रमण करने वालों में कोई भी शामिल हो, उसे बक्शा न जाए। मुख्यमंत्री के आदेश पर हरकत में आई नगर निगम की टीम अतिक्रमण करने वालों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है, लेकिन निगम का बुलडोजर सिर्फ गरीबों पर चल रहा है। सोमवार को नगर निगम की टीम अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए कांठ रोड पर पहुंची, जहां निगम की टीम ने अकबर के किले से विवेकानंद अस्पताल तक अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया। अभियान के दौरान निगम की टीम को लोगों का थोड़ा विरोध भी झेलना पड़ा। निगम की टीम ने 26 अवैध कब्जों पर बुलडोजर चलाया और 8, 200 रुपये का जुर्माना वसूला, लेकिन निगम की अतिक्रमण के खिलाफ हुई यह कार्रवाई सिर्फ गरीबों पर ही हुई।

Advertisement

सिद्ध अस्पताल के अतिक्रमण पर कार्रवाई नहीं
निगम एक तरफ गुजर-बसर करने वाले खोके व दुकानों पर कार्रवाई कर रहा है, लेकिन निगम की टीम ने कुछ बड़ी इमारतों के बाहर व निजी अस्पतालों के बाहर हो रहे अतिक्रमण को नजरअंदाज कर दिया। इसमें कांठ रोड स्थित सिद्ध अस्पताल भी है। अस्पताल प्रबंधन ने अस्पताल के बाहर आधी सड़क व नाले पर कब्जा कर रखा है। इसमें अस्पताल कर्मियों की गाड़ियां खड़ी थीं। इस अतिक्रमण पर कार्रवाई करने से पहले निगम की टीम अस्पताल के अंदर पहुंची। फिर निगम की टीम ने सिद्ध अस्पताल द्वारा किए जा रहे अतिक्रमण को हटाना तो दूर, उस ओर देखा तक नहीं। वहीं, थोड़ी दूरी पर लगे ठेले को निगम की टीम ने हटाया तो लोगों ने विरोध करना शुरू कर दिया। लोगों ने कहा कि कार्रवाई सिर्फ हम पर ही क्यों हो रही है?

कांठ रोड पर अितक्रमण हटाओ अिभयान नियमानुसार चलाया गया है। जहां पर भी अितक्रमण था उसे तोड़ा गया है। किसी व्यक्ति विशेष को छोड़ा नहीं गया है। अगर किसी कारण टीम की नजर कही हो रहे अतिक्रमण पर नहीं पड़ी है तो उसे भी तोड़ा जाएगा। किसी व्यक्ति विशेष पर कार्रवाई न करने का आरोप गलत है। -अनिल कुमार सिंह, अपर नगर आयुक्त

ये भी पढ़ें:- रायबरेली: नगर पालिका पर सभासद पूनम तिवारी का बड़ा खुलासा, कहा- नियमों को ताक पर रखकर होता रहा भ्रष्टाचार

Advertisement
Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.