मुरादाबाद : सत्यापन में लापरवाही न बरतें उच्च शिक्षाधिकारी, मंडलायुक्त ने दी चेतावनी

धन की कमी से न रुके कोई परियोजना, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, डिग्री कॉलेज, आईटीआई भवन के निर्माण में लाएं तेजी, मंडलायुक्त की अध्यक्षता में 50 लाख रुपये से अधिक लागत वाले निर्माण कार्यों की मंडलीय समीक्षा

Advertisement

मुरादाबाद,अमृत विचार। मंडलायुक्त आन्जनेय कुमार सिंह ने गुरुवार को अपने कार्यालय सभागार में 50 लाख से अधिक लागत के निर्माण कार्यों की प्रगति की समीक्षा बैठक में की। उन्होंने बैठक में न आने वाले उत्तर प्रदेश लघु उद्योग निगम लिमिटेड, संभल, अमरोहा के स्थानीय नगरीय निकायों के अधिशासी अधिकारियों का वेतन रोकने का निर्देश दिया। साथ ही क्षेत्रीय उच्च शिक्षाधिकारी को सत्यापन में लापरवाही न बरतने की चेतावनी दी।

Advertisement

मंडलायुक्त ने कहा कि जो परियोजना बजट के अभाव में पूरी नहीं हो पा रही हैं उसके लिए बजट जल्द जारी करने का प्रयास करें। उन्होंने कार्यदायी संस्थाओं को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, डिग्री कॉलेज और आईटीआई भवन निर्माण का काम जल्द पूरा करने के लिए कहा। कहा कि इसके लिए अपने जिले के जिलाधिकारियों से तत्काल संपर्क कर समस्या का समाधान कराएं। अमरोहा में मैंगो और वेजिटेबल इंटीग्रेटेड हाउस के निर्माण कार्य को गुणवत्ता के साथ दीपावली से पहले पूरा करने का निर्देश दिया।

Advertisement

मंडलायुक्त ने अधीक्षण अभियंता सिंचाई से कहा कि बाढ़ खंड के निर्माण कार्य और रामपुर के कार्यों की जांच कर अपनी रिपोर्ट एक सप्ताह में हर हाल में दें। लोक निर्माण विभाग के निर्माण खंड के अभियंताओं से कहा कि बिजनौर में निर्माणाधीन राजकीय मेडिकल कॉलेज की पहुंच मार्ग की चौड़ाई 7.5 मीटर बनाने का प्रस्ताव तत्काल जिलाधिकारी के माध्यम से शासन को भेजने का निर्देश दिया। बैठक में अपर आयुक्त बीएन यादव, डिप्टी कमिश्नर गजेन्द्र प्रताप सिंह, नगर आयुक्त संजय चौहान समेत कार्यदायी संस्थाओं के अधीक्षण अभियंता उपस्थित रहे।

ये भी पढ़ें : मुरादाबाद : विद्युत विभाग ने 50 से अधिक घरों में पकड़ी बिजली चोरी

 

Advertisement
Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.