महंत नरेंद्र गिरि केस: 14 दिन में 1 हजार लोगों से पूछताछ, महंत की मौत अब भी राज

प्रयागराज। महंत नरेंद्र गिरी मौत मामले में पहले एसआईटी और अब CBI ने 14 दिनों में 1 हजार लोगों से पूछताछ की। इन सबके बावजूद अखाड़ा परिषद अध्यक्ष की मौत अभी भी राज बनी हुई है। ऐसे में तमाम सवाल अब भी अनसुलझे नजर आ रहे हैं।

Advertisement

बता दें कि महंत की मौत के अगले ही दिन मामले की जांच एसआईटी को सौंप दी गई थी। एसआईटी ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर मठ और मंदिर से जुड़े लगभग 300 लोगों से पूछताछ भी की थी।

मामले में हुई करीबियों से पूछताछ, मठ में छानबीन

सीबीआई ने 25 सितंबर को जांच की कमान को अपने हाथ में लिया। सीबीआई की फोरेंसिक टीम ने महंत के कमरे से सबूत जुटाए। टीम में शामिल अफसरों ने बलबीर गिरि समेत नरेंद्र गिरि के तमाम करीबियों से पूछताछ की और उनके बयान नोट किए। इसके बाद टीम लगातार जांच पड़ताल में जुटी रही।

तीन दिन की जांच पड़ताल के बाद टीम ने 28 सितंबर को तीनों आरोपियों आनंद गिरि, आद्या तिवारी व संदीप तिवारी को कस्टडी रिमांड पर लेकर उनसे पूछताछ शुरू की। आनंद को लेकर हरिद्वार गई और फिर उसका लैपटॉप, मोबाइल बरामद किया। वहीं, मठ और मंदिर के पास जाकर गोपनीय तरीके से जांच पड़ताल की। महंत के साथ-साथ आरोपियों के कई करीबियों से भी पूछताछ की।

उन, पुलिस कर्मियों से भी सवाल किए जो सालों से महंत की सुरक्षा में लगे थे। इस तरह करीब 1 हजार से ज्यादा लोगों से पूछताछ की गई। मामले से जुड़े सैकड़ों साक्ष्य एकत्र किए गए। हालांकि इसके बावजूद अब तक महंत की मौत राज ही बनी हुई है। जांच अब तक कहां पहुंची या इसके निष्कर्ष क्या हैं, इस बारे में सीबीआई की ओर से कोई भी जानकारी नहीं दी गई है।

Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *