लखनऊ : बेटी के घर जा रहे किसान की नहर में डूबकर मौत

Advertisement

अमृत विचार, लखनऊ। साइकिल से अपनी बेटी के घर जा रहे 40 वर्षीय किसान की नगराम के हसनपुर सेंहगो नहर में गिरने से डूबकर मौत हो गई। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को नहर के पानी से बाहर निकलवाया।

Advertisement

निगोहां थाना क्षेत्र के लालताखेडा गांव निवासी रामकुमार ने बताया कि उनका चचेरा भाई रमेश (40) बुधवार सुबह घर से साईकिल लेकर नगराम के छतौनी गांव में ब्याही बेटी कामिनी से मिलने जाने की बात कह कर निकला था। कामिनी की शादी एक माह पहले 16 मई को हुई थी। रामकुमार ने बताया कि रमेश शराब पीने का आदी था। नशे में होने की वजह से नहर में लड़खड़ाकर गिर गया होगा। जिससे उसकी डूबकर मौत हो गई। प्रभारी निरीक्षक नगराम शमीम खान ने बताया कि मृतक रमेश के चचेरे भाई रामकुमार की तहरीर पर इस्तफाकिया रिपोर्ट दर्ज कर शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

Advertisement

कई दिनों लापता युवती बरामद

माल क्षेत्र के एक गांव की गुमशुदा लड़की को पुलिस ने पच्चीस दिन बाद सकुशल बरामद कर लिया। लड़की को उसके माता पिता को बुलाकर उनके सुपुर्द कर दिया। थाना के नबीपनाह गांव निवासी बृजलाल विश्वकर्मा की बेटी अर्चना बीती 28 मई को घर से नाराज होकर कहीं चली गयी थी। जिसकी तलाश घर वालों ने की लेकिन कोई सुराग नहीं लगा तो उन्होंने थाना माल पर बेटी की गुमशुदगी दर्ज करा दी थी। पुलिस ने गुमशुदगी दर्जकर गुमशुदा की तलाश के लिये दूरदर्शन, पोस्टर आदि के द्वारा प्रचार कर 21जून को उसे खोज निकाला। उसके बाद अर्चना को उसके माता पिता को थाने बुलाकर सुपुर्द कर दिया ।इस पर अर्चना के परिवारी जनों ने लड़की पाकर एसओ रविन्द्र कुमार और सहयोगियों को धन्यवाद दिया।

यह भी पढ़ें- बाराबंकी: एक घंटे में गुमशुदा बालक को आरक्षी ने ढूंढा, एसपी ने की पुरस्कार की घोषणा

Advertisement
Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.