कानपुर: बचाव के लिए लोग चिल्लाते रहे, छात्र ने ट्रेन के आगे आकर दी जान

Advertisement

कानपुर। हट जाओ, भागो, क्यों जान देना चाहते हो, यह शोर था बिठूर का। यहां बीफार्मा का एक छात्र ट्रैक पर जान देने के लिए खड़ा था। सामने ट्रेन आ रही थी। इसलिए लोग शोर मचा रहे थे। छात्र ट्रैक से नहीं हटा और ट्रेन की चपेट में आने से उसकी मौत हो गई। गाजीपुर जिले के मनिहारी खास निवासी रामकृति यूपी पुलिस में सिपाही हैं।

Advertisement

उनका 21 वर्षीय बेटा पवन कुमार मनिहारी गाजीपुर जिले के मनिहारी ख़ास निवासी रामकृति यूपी पुलिस में कांस्टेबल है। उनका बेटा पवन कुमार (21) मंधना में किराए पर रहकर एक मेडिकल कालेज में बीफार्मा की पढ़ाई कर रहा था। परीक्षा की तैयारियां न होने से परेशान था।

Advertisement

द्वितीय वर्ष के इस छात्र ने इस बात को अपने साथियों को भी बताया था। बिठूर के मंधना कोठी गांव के पास शुक्रवार सुबह आठ बजे वह ट्रैक पर खड़ा था। हाथ मे रजिस्टर लिए हुए था। तभी अनवरगंज से फर्रुखाबाद बाद कि ओर जा रही ट्रेन को देख लोगों ने शोर मचाया पर वह नहीं हटा। परिणामस्वरूप कट कर उसकी मौत हो गई। पुलिज़ ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

पढ़ें-हरदोई : ट्रेन के आगे कूदकर किसान ने दी जान, गृह कलह से तंग आकर उठाया घातक कदम

Advertisement
Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.