जस्टिस राजेश बिंदल होंगे इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश, राज्यपाल ने दिलाई शपथ

प्रयागराज। इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के रूप में जस्टिस राजेश बिंदल ने सोमवार को अपने पद और गोपनीयता की शपथ ली। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने जस्टिस बिंदल को शपथ दिलाई है। इस अवसर पर राजभवन के गांधी हॉल में सीएम योगी भी मौजूद रहे।

Advertisement

वहीं, सीएम ने मुख्य न्यायाधीश को बधाई दी है। इस दौरान मंत्रिमंडल के सहयोगी और वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी भी मौजूद थे। कलकत्ता हाईकोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायमूर्ति राजेश बिंदल को इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया है।

यह नियुक्ति राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने की है। इस आशय की अधिसूचना भारत सरकार के अपर सचिव राजिंदर कश्यप ने जारी की है।

सतलज यमुना विवाद में बनी इडी ट्रिब्यूनल में रख चुके हैं हरियाणा सरकार का पक्ष

राजेश बिंदल का जन्म 16 अप्रैल 1961 को हरियाणा के अंबाला में हुआ था। कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय से विधि स्नातक करने के बाद सितंबर 1985 से उन्होंने पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में विधि कार्य शुरू किया। वकालत करने के दौरान वो हरियाणा राज्य की ओर से सतलज यमुना विवाद में बनी ईडी ट्रिब्यूनल में हरियाणा सरकार के पक्षकार थे। इसके साथ ही प्रोविडेंट फंड, आयकर विभाग और अन्य महत्वपूर्ण विभागों की तरफ से हाईकोर्ट में सरकार का पक्ष रखते थे।

लद्दाख और जम्मू कश्मीर के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश के भी पद पर रहे

इसके अलावा वे 22 मार्च 2006 को पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में जज के रूप में शपथ ली। यहां से ट्रांसफर होने के पहले उन्होंने लगभग 80 हजार वादों का निस्तारण किया था। पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट से स्थानांतरित होकर जम्मू कश्मीर हाईकोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश बने।

जम्मू कश्मीर से स्थानांतरण के बाद उन्होंने 5 जनवरी 2021 को कलकत्ता उच्च न्यायालय में कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश का पद भार संभाला। इसके बाद 29 अप्रैल 2021 को कोलकाता हाई कोर्ट में मुख्य न्यायाधीश बनाए गए। वहीं, इलाहाबाद हाईकोर्ट में अभी तक कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश का काम जस्टिस एमएन भंडारी देख रहे थे।

Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *