Health Tips: अगर आप भी बचना चाहते हैं माइग्रेन के दर्द से तो इन चीजों का करें सेवन, जानें इस बीमारी के लक्षण

Advertisement

Health Tips: स्वास्थ से जुड़ी कोई भी परेशानी आपकी जीवन को पूरी तरह से प्रभावित करती है फिर वो चाहे कोई भी समस्या क्यों न हो। आज के समय में सर दर्द एक आम दिक्कत बन चुका है फिर चाहे वो ज्यादा मोबाइल चलाने की वजह से हो या फिर आंखों की कोई दूसरी समस्या। सर दर्द की ऐसी ही एक परेशानी का नाम है माइग्रेन। माइग्रेन, सिरदर्द की एक बुरी स्थिति है, जिसमें इंसान सिरदर्द को बर्दास्त नहीं कर पाता है। यह 10-40 वर्ष के लोगों को हो सकता है।

Advertisement

आमतौर पर यह दिमाग में एबनॉर्मल एक्टिविटी के कारण होता है। इसके अतिरिक्त यह हार्मोन में बदलाव, फूड, एल्कोहॉल ड्रिंक, स्ट्रेस के कारण भी होता है। हर किसी को अलग- अलग इंटेंसिटी में दर्द होता है। कुछ लोगों के पूरे सिर या फिर किसी एक प्वाइंट पर भी दर्द हो सकता है। ज्यादातर मामलों में अनहेल्दी लाइफस्टाइल की वजह से माइग्रेन की समस्या बढ़ती है। आपको इस बीमारी से छुटकारा पाने के लिए लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव करने होंगे।

Advertisement
  • आप दूध में तुलसी की 7-8 पत्ती को उबाल लें और इसको पीने के लिए इस्तेमाल करें। तुलसी की पत्ती में एंटीडिप्रेसेंट और एंटी एंजायटी गुण पाए जाते हैं।
  • दूध और पेठा को मिक्सर में डालकर पांच मिनट घुमाएं। उसके बाद इसे पीने के लिए इस्तेमाल करें। दूध में एंटीडिप्रेसेंट गुण होने के कारण यह आपके माइग्रेन अटैक को काफी हद तक कम कर देगा वहीं पेठे में सिरदर्द को ठीक करने का गुण पाया जाता है।
  • हरी पत्तेदार सब्ज‍ियों में पर्याप्त मात्रा में मैग्नीशि‍यम पाया जाता है। माइग्रेन के दर्द में मैग्नीशियम बहुत ही कारगर तरीके से काम करता है।
  • मछली में ओमेगा 3 फैटी एसिड और विटामिन ई पाया जाता है। ये दोनों माइग्रेन के दर्द को कंट्रोल करने में मदद करते हैं।
  • ब्रॉकली में भरपूर मात्रा में मैग्नीशि‍यम पाया जाता है, जिससे माइग्रेन के दर्द में राहत मिलती है।

लक्षण

  • मिचली
  • उल्टी
  • पसीना आना
  • कमजोर एकाग्रता
  • अत्यंत गर्म
  • पेट में दर्द
  • दस्त

Advertisement
Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.