झूलन गोस्वामी को लॉर्ड्स में शानदार विदाई देने को तैयार है भारत : हरमनप्रीत कौर

Advertisement

कैंटरबरी। भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर ने कहा कि इंग्लैंड के खिलाफ वनडे श्रृंखला जीतने के बाद अब उनकी टीम अनुभवी तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी को शनिवार को लॉर्ड्स में होने वाले तीसरे वनडे में शानदार विदाई देने के लिए तैयार है। इंग्लैंड के वर्तमान दौरे के बाद 39 वर्षीय झूलन गोस्वामी अपने दो दशक तक चले करियर को अलविदा कह देंगी तथा हरमनप्रीत का मानना है कि श्रृंखला में क्लीन स्वीप करना उनके लिए शानदार विदाई होगी।

Advertisement

भारत ने दूसरे वनडे में इंग्लैंड को 88 रन से हराकर 23 साल बाद उसकी धरती पर एकदिवसीय श्रृंखला जीती। हरमनप्रीत ने मैच के बाद कहा,‘‘ लॉर्ड्स में होने वाला आखिरी मैच हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि इसके बाद झूलन संन्यास ले लेंगी और हम बिना किसी दबाव के इस मैच का आनंद लेना चाहते हैं। मुझे बहुत खुशी है कि हम आज जीत दर्ज करने में सफल रहे और अब हम उस मैच का पूरा लुत्फ उठा सकते हैं।’’ भारत ने आखिरी बार 1999 में इंग्लैंड में वनडे श्रृंखला जीती थी। तब उसने 2-1 से श्रृंखला अपने नाम की थी।

Advertisement

हरमनप्रीत ने कहा,‘‘ जीत दर्ज करना बेहद महत्वपूर्ण है क्योंकि यह उनका (झूलन) आखिरी मैच होगा। यह हम सभी के लिए बेहद भावुक पल होगा और हम निश्चित तौर पर वह मैच जीतना चाहेंगे।’’ उन्होंने कहा,‘‘ हम पहले ही श्रृंखला जीत चुके हैं और ऐसे में हम उस मैच का पूरा आनंद उठा सकते हैं क्योंकि मैं जानती हूं कि यह उनका आखिरी मैच है।’’ भारतीय कप्तान ने कहा झूलन गोस्वामी टीम के सभी खिलाड़ियों के लिए प्रेरणा स्रोत रही है।

उन्होंने कहा,‘‘ वह ऐसी खिलाड़ी है जिन्होंने हमें काफी कुछ सिखाया है। जब मैंने पदार्पण किया तब वह कप्तान थी और मैंने उनसे काफी कुछ सीखा है और अब हमारी युवा गेंदबाज रेणुका सिंह और मेघना सिंह भी उनसे सीख रही हैं। वह हम सभी के लिए प्रेरणास्रोत रही हैं और हमने उनसे काफी कुछ सीखा है।’’ हरमनप्रीत ने 111 गेंदों पर नाबाद 143 रन की आकर्षक पारी खेली लेकिन उन्होंने कहा कि टीम की जीत में प्रत्येक खिलाड़ी ने अहम भूमिका निभाई।

उन्होंने कहा,‘‘आज की जीत बेहद महत्वपूर्ण थी क्योंकि हर खिलाड़ी ने अपना योगदान दिया। जब मैं बल्लेबाजी कर रही थी तो पहले 50 रन तक बल्लेबाजी करना आसान नहीं था।’’ इंग्लैंड की कार्यवाहक कप्तान एमी जोंस ने कहा कि भारत के खिलाफ वर्तमान श्रृंखला से उनके युवा तेज गेंदबाजों को सीख मिलेगी। उन्होंने कहा,‘‘ प्रत्येक हार को पचा पाना मुश्किल होता है और उन्होंने बल्लेबाजी में अच्छा प्रदर्शन करके जीत को हमसे दूर कर दिया था। हरमन ने बेहतरीन बल्लेबाजी की। उनके लिए गेंदबाजी करना बहुत मुश्किल था और यह हमारी युवा गेंदबाजों के लिए अच्छा सबक है।’’

ये भी पढ़ें : IND W vs ENG W : हरमनप्रीत कौर और रेणुका सिंह चमकी, भारत ने 23 साल बाद इंग्लैंड में जीती वनडे श्रृंखला

Advertisement
Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.