हल्द्वानी: पलायन और महिलाओं के आवाज को बुलंद करेगी ‘माटी पछ्यांण’

Advertisement

हल्द्वानी, अमृत विचार। पलायन हमेशा से उत्तराखंड का एक मुद्दा रहा है। इसको रोकने को लेकर कई बड़े-बड़े आयोजन और योजनाएं बनाई जा चुकी हैं लेकिन इस समस्या से निजात नहीं मिल पाया है। इसी क्रम में फॉर्च्यून टॉकीज मोशन पिक्चर्स के बैनल तले पलायन पर एक फिल्म बनाई गई है, जिसका नाम है ‘माटी पछ्यांण’।

Advertisement

इस फिल्म में प्रदेश के सभी स्थानीय कलाकारों को मौका मिला है। यह फिल्म 23 सितंबर को उत्तराखंड के सिनेमाघरों में रिलीज हो रही है। फिल्म के निर्माता फराज शेर और निर्देशक अजय बेरी है। इस फिल्म का मुख्य उद्देश्य उत्तराखंड के विभिन्न स्थानों में हुए पलायन को रोकना और महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देना है।

Advertisement

गुरुवार को एक निजी रेट्रोरेंट में आयोजित प्रेस वार्ता में फिल्म के निर्माता फराज शेर ने लोगों को फिल्म के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि यह फिल्म उत्तराखंडी सिनेमा को बहुत ऊंचे आयाम पर पहुंचा देगी। उन्होंने उत्तराखंड की लोगों से इस फिल्म को देखने का आग्रह किया है। कहा कि फिल्म का भविष्य दर्शकों के हाथों में होता है और माटी पछ्यांण को उत्तराखंड के दर्शकों की प्रतीक्षा है।

निर्देशक अजय बेरी ने बताया कि वो कई वर्षों से सिनेमा से जुड़े हैं, जिसके अनुभव को उन्होंने अपने उत्तराखंड की संस्कृति को बड़े परदे पर प्रदर्शित करने के लिए इस्तेमाल किया है। उन्होंने बताया कि माटी पछ्यांण में सभी स्थानीय कलाकार बहुत प्रतिभावान हैं, जरूरी है कि इनका सरंक्षण हो। इस फिल्म में अभिनेता करण गोस्वामी और अभिनेत्री अंकिता परिहार हैं।

Advertisement
Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.