गौतम बुद्ध नगर: सुपर हीरो बनने की चाहत में किशोर की गई जान, सुपरमैन का कॉस्टयूम बना गले का फंदा

Advertisement

गौतम बुद्ध नगर। नोएडा में लापरवाही ने ले ली 13 साल के बच्चे की जान। ऐसे ही लापरवाही का मामला सामने आया है पर्थला गांव में 13 साल के किशोर अपने घर में एक लकड़ी के बक्से पर खड़े होकर बहनों के साथ गले में दुपट्टा बांधकर सुपरमैन की तरह उड़ने का वीडियो (रील) बना रहा था। बक्से से कूदने के दौरान दुपट्टे फंस गया और बच्चे की गर्दन में फंदा लग गया। परिवार वालों ने उसे तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया। उपचार के दौरान मंगलवार देर रात उसकी मौत हो गई। बतादें कि घटना 14 मई को हुई थी। चार दिनों तक दो अस्पतालों में चले इलाज के बाद उसने दम तोड़ दिया।

Advertisement

लापरवाही की घटना को लेकर सेक्टर 113 थाना प्रभारी शरद कांत शर्मा ने बताया है कि थाना क्षेत्र में स्थित पर्थला गांव में मूलरूप से फर्रुखाबाद के रहने वाले बृजेश अपने 5 बच्चों के साथ किराये के मकान में रहते हैं। वह एक कंपनी में सिक्यॉरिटी गार्ड हैं। 14 मई को वह ड्यूटी गए थे।

Advertisement

इसी दौरान दोपहर में करीब 2 बजे उनका 7 वीं में पढ़ने वाला 13 साल का बेटा अपनी चार बहनों के साथ सोशल मीडिया के लिए शॉर्ट वीडियो बना रहा था। वीडियो में बच्चा सुपरमैन की तरह उड़ने की कोशिश कर रहा था। इसके लिए उसने अपनी बड़ी बहन का दुपट्टा लिया ओर सुपरमैन की तरह गले में बांध कर कमरे में रखे एक लकड़ी के बक्से पर चढ़ गया। बच्चे की बड़ी बहन मोबाइल से वीडियो शूट कर रही थी।

बहन ने 1 से लेकर 4 तक गिनती गिनने के बाद उसे बक्से से कूदने के लिए कहा। जैसे ही वह कूदा तो दुपट्टे का एक कोना बक्से में फंस गया। इसकी वजह से दुपट्टे का फंदा बच्चे के गले में टाइट हो गया। गले में दुपट्टा टाइट होने पर वह छटपटाने लगा। उसकी हालत देख बहने ने शोर मचा दिया। बहनों की आवाज सुनकर परिजन तुरंत आए। बच्चे के गले से दुपट्टे का फंदा निकाल कर उसे एक निजी अस्पताल में लेकर गए।

डॉक्टरों ने 2 दिनों तक बच्चे को आईसीयू में रखा। जब उसके स्वास्थ्य में सुधार नहीं हुआ तो डॉक्टरों ने बच्चे की गंभीर हालत को देखते हुए जिला अस्पताल रेफर कर दिया था। जिला अस्पताल में दो दिनों तक इलाज के बाद मंगलवार देर रात बच्चे की मौत हो गई। घटना की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची सेक्टर 113 थाना पुलिस ने शव को बरामद कर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस मामले में कार्यवाही करने में जुटी हुई है।

जिसके बाद मामले को लेकर थाना प्रभारी ने कहां की मां के फोन में बनाया था वीडियो यह बात बच्चे के पिता ने बताई हैं। थाना प्रभारी ने बताया मासूम बच्चा चार बहनों में अकेला भाई था। बच्चा अपनी मां के फोन में अक्सर सुपरमैन वाला कार्टून देखा करता था। वह पहले भी अपनी बहनों का दुपट्टा अपने पीछे बांधकर सुपरमैन की तरह दौड़ता रहता था। उसे सुपरमैन का गेटअप बहुत ही पसंद था। इसी वजह से 14 मई को वह अपनी बहनों से वीडियो बनाने की जिद करने लगा था। जिसके बाद लापरावाही के चलते बच्चे की मौत हो गई।

पढ़ें-लखनऊ: पहले काटी हाथ की नस, फिर लगाया गले में फंदा, छुट्टी से लौटी महिला सिपाही ने दी जान

 

Advertisement
Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.