गौतम बुद्ध नगर: नाबालिग से डिजिटल रेप करने वाला 80 वर्षीय बुजुर्ग गिरफ्तार, जानें क्या है डिजिटल रेप

Advertisement

गौतम बुद्ध नगर। गौतम बुद्ध नगर पुलिस ने नाबालिग घरेलू सहायिका से डिजिटल रेप के आरोप में प्रयागराज के 80 वर्षीय चित्रकार को गिरफ्तार किया है। घरेलू सहायिका का आरोप है कि प्रयागराज का मौरिस राइडर उसके साथ 10 वर्ष की उम्र से ही डिजिटल यौन शोषण कर रहा है। मना करने पर जान से मारने की धमकी देता है। पॉस्को एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है। आरोपी मौरिस राइडर एक महिला मित्र के साथ नोएडा के सेक्टर-46 में रहता है।

Advertisement

उसके साथ 17 वर्षीय सहायिका भी रहती है। उसे वह अपने साथ पढ़ाने-लिखाने का लालच देकर 10 साल की उम्र से ही लाया था। तभी से वह उसका डिजिटल यौन शोषण कर रहा था। इंटरनेट से अश्लील फिल्में दिखाकर वह उसके निजी अंगों से छेड़छाड़ करता था। मना करने पर जान से मारने की धमकी देता था और पिटाई करता था। 17 वर्षीय घरेलू सहायिका ने नोएडा पुलिस को बताया कि राइडर पिछले सात साल से उसका यौन शोषण कर रहा है। पीड़िता ने पुलिस को ऑडियो और वीडियो रिकॉर्डिंग भी सौंपी है।

Advertisement

सेक्टर-39 थाना प्रभारी राजीव बलियान का कहना है कि आरोपी मौरिस राइडर मानसिक रूप से विकृत लगता है। फिलहाल आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। मौरिस राइडर 22 साल पहले प्रयागराज से दिल्ली चला गया था। उसने हिंदू धर्म छोड़कर क्रिश्चियन धर्म स्वीकार कर लिया था।

क्या है डिजिटल रेप

अक्सर डिजिटल रेप की गलत व्याख्या की जाती है। आम धारणा है कि डिजिटल प्लेटफॉर्म पर नेकेड तस्वीरें, वीडियो के जरिए ऐसा होता है। हालांकि यह सही नहीं है। डिजिटल रेप का मतलब रिप्रोडक्टिव आर्गन के अलावा किसी अंग या ऑब्जेक्ट जैसे उंगलियां, अंगूठा या किसी वस्तु का इस्तेमाल करके जबरन सेक्स करना है। अंग्रेजी में डिजिट का मतलब अंक होता है। साथ ही उंगली, अंगूठा, पैर की उंगली जैसे शरीर के अंगों को भी डिजिट से संबोधित किया जाता हैं। मतलब जो यौन उत्पीड़न डिजिट से किया गया हो, तब उसे डिजिटल रेप कहा जाता है। 2012 से पहले डिजिटल रेप छेड़छाड़ के दायरे में था लेकिन निर्भया मामले के बाद इसे रेप की श्रेणी में जोड़ा गया।

प्राथमिक जांच में सामने आया है कि बुजुर्ग ने किशोरी के साथ डिजीटल रेप किया है। अपनी शिकायत में पीड़िता ने आरोपी की वीडियो और ऑडियो रिकॉर्डिंग भी पुलिस को मुहैया कराई है। जिला अस्पताल में मेडिकल जांच के बाद बुजुर्ग चित्रकार को पुलिस ने घर से गिरफ्तार कर लिया। आरोपी के खिलाफ धारा 376, 323, 506 और पोक्सो एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई है…वृंदा शुक्ला, डीसीपी महिला व बाल अपराध।

Advertisement
Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.