बरेली: 14, 15, 16 जनवरी 2022 को उत्तरायणी मेला आयोजन की घोषणा

बरेली, अमृत विचार। विवादों के उठे स्वरों के बीच मंगलवार को उत्तरायणी जन कल्याण समिति के नवनिर्वाचित अध्यक्ष समेत अन्य पदाधिकारियों को शपथ ग्रहण करायी गयी। मुख्य चुनाव अधिकारी डा. मनोज कांडपाल ने पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलायी। आमसभा में वक्ताओं ने 28 साल पुरानी समिति के बिखरे पन्नों को एकजुट करने के साथ उसको पारदर्शी बनाने और मजबूत करने पर जोर दिया। आमसभा को संबोधित करते हुए प्रथम निर्वाचित अध्यक्ष प्रमोद बिष्ट ने परिस्थितियां अनुकूल रहने पर तीन दिवसीय उत्तरायणी मेला 14, 15, 16 जनवरी 2022 को आयोजित कराने की घोषणा की। जिसका सभी ने समर्थन किया।

Advertisement

उत्तरायणी जनकल्याण समिति की आमसभा की बैठक मंगलवार को बीसलपुर रोड स्थित एक होटल में हुई। जिसमें शपथ ग्रहण होने के बाद नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को समिति के आजीवन सदस्यों से परिचय कराया गया। सबसे पहले मुख्य चुनाव अधिकारी डा. मनोज कांडपाल ने अध्यक्ष प्रमोद बिष्ट, महासचिव दिनेश पंत और कोषाध्यक्ष देवेंद्र सिंह मनराल को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। अन्य पदाधिकारियों को शपथ दिलायी।

अध्यक्ष प्रमोद बिष्ट ने नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को बधाई देते हुए कहा कि सभी पदाधिकारी आगामी मेले की तैयारी में जुट जाएं। महासचिव दिनेश पंत ने समिति को मजबूत करने पर जोर दिया। कोषाध्यक्ष देवेन्द्र सिंह मनराल ने समिति की आर्थिक स्थिति पर चर्चा की। मुख्य संरक्षक सुरेन्द्र सिंह बिष्ट ने कहा कि नई कार्यकारिणी समिति के प्रति पूरी निष्ठा से कार्य करते हुए समिति को नई ऊचांइयों पर ले जाएं।

इस मौके पर मनोज पांडे, गिरीश पांडे, केएस रावत, एनडी पांडे, विनोद जोशी, मुकुल भट्ट, कमलेश विष्ट, भोपाल सिंह बिष्ट, रमेश शर्मा, तारा जोशी, पुष्कर सिंह राणा, कुंवर सिंह बिष्ट, जेसी काला, कैलाश चंद सती, दिनेश पांडे, अम्बा जोशी, अम्बा दत्त मठपाल, रामू चंद्र रामेश्वर, चंदन सिंह नेगी, विजय ढौंडियाल, प्रभात गैरोला, डा. नवीन उप्रेती, पूरन सिंह दानू और पंकज जोशी आदि लोगों ने कार्यक्रम में विशेष योगदान दिया।

चुनाव से शुरू हुई राजनीति की चिंगारी और उठा रही धुआं
उत्तरायणी जन कल्याण समिति के वर्तमान और पूर्व पदाधिकारियों के बीच चुनाव से उठी राजनीति की चिंगारी और धुआं उठा रही है। पूर्व पदाधिकारियों को नई प्रबंध कार्यकारिणी में शामिल नहीं कराने समेत अन्य कारणों को लेकर पूर्व पदाधिकारी खुलकर सामने आ गए हैं। मंगलवार को नई कार्यकारिणी के पदाधिकारियों के शपथ ग्रहण कार्यक्रम में भी बड़ी संख्या में पूर्व पदाधिकारी शामिल नहीं हुए। उन्होंने प्रबंध कार्यकारिणी के बनाए जाने पर ही सवाल खड़े किए हैं।

समिति की नियमावली की अनेदखी कर कार्यकारिणी में लोगों को जगह देने का भी आरोप लगाया है। इस संबंध में आजीवन सदस्यों समेत पूर्व पदाधिकारियों ने मुख्य चुनाव अधिकारी से लिखित शिकायत की लेकिन सुनवाई नहीं हुई। अब मामले में पूर्व पदाधिकारी चुप बैठने वाले नहीं हैं। उन्होंने जल्द ही मामले में सहायक रजिस्ट्रार फर्म सोसाइटीज एवं चिट्स फंड पंजीयन के यहां शिकायत करेंगे।

फाउंडर मेंबर व पूर्व पदाधिकारियों ने किया आमसभा का बहिष्कार
पीएस जीना प्रत्याशी अध्यक्ष एवं पूर्व ऑडिटर व उपाध्यक्ष, आनंद सिंह भंडारी संरक्षक, फाउंडर मेंबर देवेंद्र जोशी पूर्व महासचिव, अग्नि वर्तमान संगठन मंत्री, मोहन चंद्र जोशी निवर्तमान संरक्षक एवं पूर्व महामंत्री, पीसी पाठक निवर्तमान अध्यक्ष एवं फाउंडर मेंबर, डीडी बेलवाल पूर्व मुख्य संरक्षक एवं फाउंडर मेंबर, भुवन चंद्र पांडे निवर्तमान महासचिव, मुकुल मोहन त्रिपाठी मार्गदर्शक मंडल एवं पूर्व कार्यकारिणी सदस्य, आजीवन सदस्य योगेश जोशी, नवीन चंद्र जोशी, विवेक जोशी, आशीष जोशी, प्रकाश पाठक, कैलाश चंद्र पंत, भैरव दत्त जोशी, जियन पाठक, एमसी पाठक, नंदा वल्लभ पाठक, उमेश तिवारी, हरीश जोशी, बालम सिंह बिष्ट, धर्मानंद जोशी, विष्णु खत्री, घनश्याम सिंह, भरत जोशी, जगदीश सती, शंकर सिंह बोरा, सुंदर सिंह भाकुनी, डा आरस लुधियाना ने मंगलवार को हुई आमसभा का बहिष्कार किया।

Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *