अयोध्या: ब्लॉक और तहसील स्तर के अफसर अब अति कुपोषित बच्चों को लेंगे गोद

Advertisement

अयोध्या। ब्लॉक व तहसील स्तरीय अधिकारी कम से कम 10 अति कुपोषित बच्चों को गोद लेंगे। इन बच्चों की हर महीने निगरानी करेंगे। बच्चों के स्वास्थ्य परीक्षण के साथ ही उनको पोषण सामग्री मिल रही है या नहीं इसकी मानीटरिंग करेंगे। कुपोषण रोकने के लिए जिले में अभियान चलाया जा रहा है। इसमें यह व्यवस्था भी की गई है।

Advertisement

जिले में कुपोषित वह अति कुपोषित बच्चों की संख्या करीब 1400 है। कुछ दिन पहले ही कराए गए सर्वे के बाद संख्या सामने आई है। कुपोषण रोकने के लिए सरकार लगातार अभियान चला रही है। स्वास्थ्य विभाग जहां नियमित टीकाकरण आदि कर रहा है। जिला अस्पताल में पोषण पुनर्वास चलाया जा रहा है।

Advertisement

इसके अलावा आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से इन बच्चों व इनकी मां को पोषित खाद्य सामग्री दी जाती है। कुपोषित व अति कुपोषित बच्चों व उनकी मां को ज्यादा राशन दिया जाता है। आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को निर्देश दिया गया है कि हर महीने अतिकुपोषित बच्चों के घर जाकर बच्चों की निगरानी करें और इसकी नियमित रिपोर्ट दें। एएनएम इन बच्चों की लगातार मानीटरिंग करेंगी।

एसडीएम, बीडीओ व तहसीलदार लेंगे गोद

सीएमओ डॉ. अजय राजा ने बताया कि जिले में सैम (अति कुपोषित) बच्चे 1400 चिन्हित किए गए हैं। इन बच्चों को स्वस्थ करने पर पूरा फोकस है। डीएम ने निर्देश दिया है कि इन सभी बच्चों को अधिकारी गोद लेंगे। इसमें एसडीएम, तहसीलदार, बीडीओ, एमओ आईसी, एडीओ के अलावा खंड शिक्षा अधिकारी आदि दस-दस बच्चे गोद लेंगे। इन बच्चों की नियमित निगरानी करेंगे।

बच्चों व उनके अभिभावकों को सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाएंगे। यह व्यवस्था इसलिए की गई है जिससे इन बच्चों की लगातार निगरानी हो और बच्चे जल्द स्वस्थ हों व जिला कुपोषण मुक्त हो सके।

पढ़ें-भीमताल: जिले के अतिकुपोषित बच्चों को गोद लेंगे अफसर

Advertisement
Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.