हल्द्वानी: किसानों के हक पर मनमानी, छीन लिया गया खेतों का पानी

हल्द्वानी, अमृत विचार। ग्राम पंचायत से नगर में आने का लाभ तो दूर वहां के किसानों को इसकी सजा भुगतनी पड़ी। जो नलकूप केवल खेतों की प्यास बुझाने के लिए लगाया गया था, अब उसमें अधिकारियों ने मनमानी शुरू कर दी। वार्ड दर वार्ड पड़ताल में जब अमृत विचार की टीम कुसुमखेड़ा पश्चिमी वार्ड में पहुंची तो लोगों की बेबसी उसके सामने आई। जनप्रतिनिधियों और अफसरों के दफ्तर काट-काट कर थक चुके किसानों के खेतों में धान की रुपाई भी एक महीने देरी से हो पाई।

Advertisement

शहर के वार्ड संख्या 44 में सड़क, पानी, स्ट्रीट लाइटों को लेकर काफी समस्या देखी गई। एक बड़ी दिक्कत किसानों के साथ सामने आई। पड़ताल में लोगों से जब बातचीत की तो समस्या को जाहिर करते हुए किसानों ने अमृत विचार की टीम से बातचीत की। उन्होंने बताया कि 14 साल पहले अंबा विहार में सिचाईं विभाग ने नलकूप लगाया था। खेतों को पानी देने के लिए लगाए गए इस नलकूप के लिए जगह नहीं मिल रही थी।

उस समय उरवादत्त त्रिपाठी ने अपनी जगह में नलकूप को स्थान दिया। अब निगम बनने के बाद किसानों के हक का पानी उनसे छीन लिया गया। इस नलकूप से खेतों में जरूरत भर पानी भी नहीं मिल पा रहा है, इसे पेयजल की लाइनों से जोड़ दिया गया है। इसका असर फसलों पर और खेतों की उर्वरक क्षमता पर पड़ रहा है। बड़ा नुकसान किसानों का भी हो रहा है।

कुसुमखेडा पश्चिमी
क्षेत्र – एकता विहार, समीर विहार, उत्तरांचल कालोनी, गायत्री नगर, अंबा कालोनी, द्वारिका पुरी, दक्षिणी मोती नगर, जगत विहार, रेवती विहार, ओम विहार, टीएस कालोनी, मधुवन एंक्लेब, मधुबन कालोनी, इंदिरा कालोनी, संगम विहार।

सुविधाजनक नहीं खतरनाक है सड़कें
कुसुखेड़ा पश्चिमी वार्ड में इन दिनों गैस गोदाम रोड के निर्माण का चल रहा है। इससे यह सड़क तो ठीक है। लेकिन वार्ड में द्वारिका पुरी एक, दो व तीन, समीर विहार, एकता विहार, गोकुल विहार का बुरा हाल है। यहां की सड़कें सुविधाजनक न होकर इस कदर खतरनाक हैं कि वहां से गुजरने से भी लोग घबराते हैं।

कालोनियों में रहता है अंधेरे का खौफ
कालोनियों में स्ट्रीट लाइटें ही नहीं लग सकी हैं। इस वजह से कालोनियों की सड़कों पर अंधेरा बना रहता है। कई बार इस वार्ड में घरों के ताले टूट चुके हैं। चोरियां होने के बावजूद इस समस्या को गंभीरता से नहीं लिया गया है। लोगों का कहना है कि अंधेरे के कारण डर लगता है, बाहर निकलने में भी घबराहट होती है।

धड़ल्ले से चलता है नशे का कारोबार
वार्ड में नशे का कारोबार धड़ल्ले से चलता है। यहां के तमाम लोग इस अवैध कार्य को लेकर परेशान भी रहते हैं। उन्हें वारदात का खतरा बना रहता है, लेकिन न ही जनप्रतनिधि इस को लेकर कोई आवाज उठाते हैं और न ही जिम्मेदार अधिकारी कोई कार्रवाई करते हैं। लोगों के अनुसार तुलसी विहार कालोनी के सामने एक इलाके में इन लोगों का अड्डा बन गया है।

Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *