प्रयागराज: महंत नरेन्द्र गिरि की षोडशी में 10 हजार संत होंगे शामिल

प्रयागराज। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरि की षोडशी कर्मकांड व अनुष्ठान में सभी 13 अखाड़ों के प्रतिनिधि, सहित पूरे देश से लगभग 10 हजार साधु-संत आदि शामिल होंगे। नरेन्द्र गिरि के षोडशी कार्यक्रम में गुद्दड अखाड़े को विशेष रूप से आमंत्रित किया गया है।

Advertisement

इस अखाड़े से जुड़े महात्मा हरिद्वार, काशी, नाशिक, उज्जैन सहित कई शहरों में रहते हैं। षोडशी में सर्वप्रथम उन्हें भोजन करवाने के बाद भंडारा आरंभ किया जाता है। अखाड़े से जुड़े महात्मा को 16 प्रकार का दान दिया जाता है। इसके अलावा निरंजनी अखाड़े के सचिव रवींद्र पुरी ने बताया कि गृहस्थ की मृत्यु के बाद उसका कर्म 13वें दिन होता है। संत-महात्मा की मृत्यु के बाद उनका कर्मकाण्ड 16वें दिन होता है। यह परंपरा सनातनकाल से चली आ रही है।

साथ ही उन्होंने बताया कि संत-महात्मा के कर्म में भी 16 ऐसे सन्यासियों को दान-दक्षिणा दी जाती है, जिन्होंने अपना पिंडदान किया होता है। इन संत-महात्माओं को नरेन्द्र गिरी की पसंद की 16 भौतिक चीजों का दान दिया जाएगा। इस अवसर पर बलवीर गिरि का पट्टाभिषेक किया जाएगा। इसके बाद महंतई चादरविधि के तहत वैदि मंत्रोच्चार के बीच निरंजनी अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर, मंडलेश्वर, सचिव समेत सभी 13 अखाडों के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में उन्हें श्रीमठ बाघम्बरी गद्दी का महंत घोषित किया जाएगा।

Related

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *